Top 9 Best Ways to Boost Your Metabolism in Hindi By Happy Health India

Top 9 Best Ways to Boost Your Metabolism in Hindi – मेटाबॉलिज्म ठीक करने के टॉप 9 तरीके

आपका शरीर कितनी जल्दी कैलोरी बर्न (Calorie burn) करता है, यह बात कई बातों पर निर्भर करती है। कुछ लोगों का मेटाबॉलिज्म प्राकृतिक रूप से अच्छा होता है। इसलिए उनका शरीर तेजी से कैलोरी बर्न करता है। पुरुषों का शरीर महिलाओं की तुलना मे अधिक कैलोरी बर्न (Calorie burn) करता है, यहाँ तक कि आराम करते समय भी। और अधिकतर केसेज मे 40 की उम्र के बाद मेटाबॉलिज्म स्लो (metabolism slowहोने लगता है। हालांकि, आप उम्र, जेंडर आदि को तो बादल नहीं सकते, लेकिन मेटाबॉलिज्म ठीक करने के लिए कुछ अन्य तरीके जरूर अपना सकते हैं। हम आपको बता रहे हैं इनमे से 10 खास तरीके जोकि जल्द से मेटाबॉलिज्म ठीक करने में आपकी मदद करेगा How to boost your metabolism in hindi and top 9 best ways to boost your metabolism.

Top 9 Best Ways to Boost Your Metabolism
Top 9 Best Ways to Boost Your Metabolism in Hindi

मसल बिल्ड करें – Build Muscle

आपका शरीर लगातार कैलोरी बर्न (Calorie burn) करता है, यहाँ तक कि तब भी जब आप कुछ नहीं करते हैं। जिन लोगों मे मसल ज्यादा होता है उनका रेस्टिंग मेटाबॉलिज्म (metabolismज्यादा होता है। यानि आराम के समय उनका शरीर ज्यादा कैलोरी बर्न करता है। 

अगर आप अपने डेली रूटीन मे एक्सरसाइज शामिल कर लें तो न सिर्फ आपके मेटाबॉलिज्म मे सुधार दिखने लगेगा। इसका असर आपको बढ़ती भूख के रूप मे नजर आएगा।

बढ़ाएँ वर्कआउट की ईंटेंसिटी – Increase the intensity of workouts

एरोबिक एक्सरसाइज बड़े मसल भले न बनाए, लेकिन वर्कआउट (Workout) के कुछ ही घंटों के भीतर यह आपका मेटाबॉलिज्म जरूर बेहतर कर सकता है। यानि आपका मेन फोकस खुद को पुश करने पर होना चाहिए है। ईंटेंसिटी ज्यादा फायदेमंद होगी, खासतौर से आराम के वक्त कैलोरी बर्न करने के मामले मे। ज्यादा फायदे के लिए अधिक इंटेन्स एक्सरसाइज करें और जॉगिंग को अपने डेली रूटीन का हिस्सा बनाएँ।

यह भी पढ़ें: How to Make Your Diet Healthy in Hindi

पानी की फूल डोज़ लें – Drink more water

कैलोरी को प्रोसेस करने के लिए आपके शरीर को पानी चाहिए होता है। अगर आप मामूली रूप से भी डीहाइड्रेटेड होते हैं तब भी आपका मेटाबॉलिज्म स्लो हो जाता है। कई स्टडीज़ मे यह पाया गया है कि रोज 4 गिलास पानी पीने वालों के मुक़ाबले उन लोगों का शरीर ज्यादा कैलोरी बर्न करता है जो लोग दिन मे 8 गिलास पानी पीते हैं। 

शरीर को हाइड्रेटेड रखने के लिए हर मील या स्नैक के साथ एक गिलास लिक्विड जरूर लें। इसके साथ ही स्नैक्स मे चिप्स और फ्राइज जैसी चीजों की जगह फल व सब्जियाँ खाएं, जिनमे प्राकृतिक रूप से काफी पानी होता है।

स्मार्ट स्नैक्स पर करें यकीन – Believe in smart snacks

बार-बार, थोड़ा-थोड़ा खाने से आपको वजन घटाने मे मदद मिलती है। अगर आप एक साथ बहुत सारा खाना खाते हैं और दो मील के बीच मे लंबा गैप रखते हैं तो इस टाइम मे आपका मेटाबॉलिज्म स्लो (metabolism slowहो जाता है। 

हर दो-तीन घंटे बाद थोड़ा-थोड़ा कुछ खाते रहें। इससे आपका मेटाबॉलिज्म एक्टिव (metabolism active) रहेगा और आप अधिक कैलोरी बर्न कर पाएंगे। यह भी देखा गया है कि जो लोग थोड़े अंतराल मे स्नैक्स लेते रहते हैं वे मील टाइम मे कम खाते हैं।

यह भी पढ़ें: Natural Two Secrets For Weight Loss Diet in Hindi

खाने मे मसालों का ट्विस्ट – Twist of spices in food

पढ़ कर थोड़ा अटपटा लग रहा होगा, लेकिन यह सच है। स्पाइसी खाने मे ऐसे प्राकृतिक केमिकल होते हैं जो मेटाबॉलिज्म को हायर गियर मे ले जाते हैं। खाने मे एक चम्मच कटी हुई हरी या लाल मिर्च मिलकर पकाएँ, फिर देखें कैसे आपका मेटाबॉलिज्म बढ़ (increase metabolism) जाता है। इसका असर आमतौर पर टेम्परेरी होता है, लेकिन बीच-बीच मे स्पाइसी चीजें खाने से आपको काफी फायदा होगा। 

इसे आसान बनाने के लिए आप ब्लैक पेपर पाउडर और चिली फ़्लेक्स किचन मे रख ले। इससे आप अपने हेल्दी सूप, पास्ता या सलाद जैसी चीजों मे मिलकर टेस्ट मे ट्विस्ट ल सकते हैं।

प्रोटीन का पावर है जरूरी – The power of protein is important

अगर आप खाने मे फैट या कार्बोहाइड्रेट की तुलना मे प्रोटीन अधिक लेते हैं तो आपका डाइजेशन ठीक रेहता है। एक बैलेंस डाइट के रूप मे कार्बोहाइड्रेट (Carbohydrate) के एक हिस्से को लीन प्रोटीन से रिप्लेस करें। प्रोटीन के अच्छे सोर्स हैं फिश, व्हाइट मीट चिकन, अंडे, टोफू, बीन्स, नट्स, टर्की और लो फैट डेयरी प्रॉडक्ट।

यह भी पढ़ें: Top 12 Tips for Personal Hygiene in Hindi

ग्रीन टी से हो जाएँ रीचार्ज – Green Tea recharge

ग्रीन टी या ऊलाँग टी (एक चाइनीज चाय, जिसकी पत्तियों को सुखाने से पहले फरमेंट किया जाता है) पीने के बाद कुछ घंटों के लिए आपका मेटाबॉलिज्म बढ़ (increase metabolism) जाता है। एक्सरसाइज के दौरान दो से तीन कप green tea ग्रीन टी पीएं।

क्रैश डाइट से बचें – Avoid crash diets

क्रैश डाइट का मतलब है, अगर आप महिला हैं तो 24 घंटे मे 1200 कैलोरी से कम और अगर पुरुष हैं तो 1800 कैलोरी से कम खाना। यह आदत हर उस व्यक्ति के लिए नुकसानदेय है जो अपना मेटाबॉलिज्म ठीक करना चाहते हैं। हाँ 

यह जरूर है कि, इससे आप कुछ किलो वजन जरूर कम कर सकते हैं, लेकिन यह अच्छे न्यूट्रीशन के साथ समझौते की कीमत पर होगा। इसका नतीजा यह होता है कि आपका शरीर कम कैलोरी बर्न (Calorie burn) करने की आदत डाल लेता है और आपका वजन पहले की तुलना मे तेजी से बढ़ता है।

Leave a Comment