Health Benefits of Cinnamon Powder in Hindi By Happy Health India

Health Benefits of Cinnamon Powder

दालचीनी यानि सिनेमन को हम सभी एक गर्म मसाले के रूप में जानते हैं। दालचीनी एक पेड़ के अंदर की छाल होती है। आपको बता दे की दालचीनी का इस्तेमाल खाने और मिठाइयों में किया जाता है। दालचीनी आसानी से आपको सभी जगह मिल जाती है और यह औषधीय गुणों से भरपूर मसाला है, जो आमतौर पर हर किसी के किचन में उपलब्ध होता है।

दालचीनी में पाए जाने वाले उपयोगी पोषक तत्व: दालचीनी में Vitamins यानि विटामिन ए, आयरन, फाइबर, विटामिन बी6, कैल्शियम, मैग्नीशियम पाया जाता है। दालचीनी में Anti-fungal, एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-ऑक्सीडेंट, anti-inflammatory तत्व भी पाए जाते हैं। आइए जानते है  दालचीनी के 11 अदभुत स्वास्थ्य लाभ और अर्जुन की छाल और दालचीनी के फायदे

health benefits of cinnamon, health benefits of cinnamon in hindi, health benefits of cinnamon powder, cinnamon side effects, cinnamon benefits, cinnamon benefits in hindi, health benefits of cinnamon and honey, health benefits of cinnamon water, दालचीनी के फायदे, अर्जुन की छाल और दालचीनी के फायदे, शुगर में दालचीनी के फायदे, दालचीनी की चाय के फायदे, दालचीनी के तेल के फायदे, दालचीनी के पानी के फायदे, दालचीनी और शहद के फायदे इन हिंदी,
Health Benefits of Cinnamon Powder in Hindi

दालचीनी के 11 अदभुत स्वास्थ सम्बन्धी फायदे – 11 Amazing Health Benefits of Cinnamon

दालचीनी एक बहुत ही स्वादिष्ट और फायदेमंद मसालों में से एक है, जिसका उपयोग कई व्यंजनों में एक योजक और विभिन्न व्यंजनों में स्वाद जोड़ने के लिए किया जाता है। यह हजारों वर्षों से अपने औषधीय गुणों के लिए बेशकीमती है। दालचीनी के कई फायदे है जैसे की शुगर में दालचीनी, दालचीनी की चाय, दालचीनी और शहद, अर्जुन की छाल और दालचीनी के फायदे आप जिसके भी साथ लेते हो सब का अलग अलग रोगो या बीमारी से फायदा दिलाता है। दालचीनी किसके साथ लेने से क्या फायदा मिलता है पूरा विस्तार से जानेगे।

1. ब्लड सुगर को नियंत्रित करता हैं – Controls Blood Sugar

दालचीनी को गरीबों का insulin यानि इंसुलिन भी कहा जाता है। दालचीनी insulin का निर्माण करके रक्त में sugar के स्तर को कम करता है। टाइप 2 मधुमेह रोगियों के लिए दालचीनी बहुत प्रसिद्ध है, जो की ब्लड शुगर (blood sugar) को नियंत्रित करता है।

2.  कैलेस्ट्रोल को नियंत्रित करता हैं – Controls Cholesterol

जिन लोगों में कोलेस्ट्रॉल की अनियमितता होती है, उन्हें दिल के दौरे का खतरा अधिक होता है। शरीर में रक्त वाहिकाओं या धमनियों में ब्लॉकेज हो जाता है, जिससे रक्त हृदय तक ठीक से नहीं पहुंच पाता है और दिल का दौरा पड़ने का खतरा होता है। रहता है। जब हम बहुत कम मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट लेते हैं तो कोलेस्ट्रॉल बढ़ता है। दालचीनी कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करती है। इसका एक उपाय भी हैं। 2 चम्मच शहद, 3 चम्मच दालचीनी पाउडर 1/2 लीटर गर्म पानी के साथ लें। इससे कोलेस्ट्रॉल का खतरा कम होता है।

अर्जुन की छाल का 100 ग्राम लेकर 500 मिलीलीटर पानी में पका लें, आपको तब तक पानी में पका ना है जब तक 200 मिलीलीटर पानी रहे फिर इसे उतार लें और इसका 10-10 मिलीलीटर प्रतिदिन सुबह शाम सेवन करें। इससे खून में बढ़ा हुआ कोलेस्ट्रॉल कम होगा, खून के थक्के साफ होंगे, ब्लड प्रेशर सही रहेगा और एंजियोप्लास्टी यानि Angioplasty की संभावना कभी नहीं रहेगी।

यह भी पढ़ें: सूखे अंजीर के सर्वोत्तम स्वास्थ्य लाभ


3. उल्टी और दस्त होने पर – Case of Vomiting and Diarrhea

दालचीनी का प्रयोग उल्टी यानि vomiting, दस्त यानि diarrhea में भी किया जाता है। इसके लिए 1 गिलास पानी लीजिए फिर थोड़ा सा दालचीनी पाउडर मिलाए और इससे उबाल लें, फिर उसमें शहद मिलाकर पीने से उल्टी, दस्त में काफी हद तक लाभ मिलता है।

4. दम्मा ,अश्थमा और वात के रोग के लिए – For Diseases of Damma, Asthma and Vata

जिन लोगों को दमा या अस्थमा होता है, उन्हें दालचीनी का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए। दालचीनी पाउडर को गुड़ के साथ अच्छे से मिलाकर गर्म पानी के साथ लेना चाहिए। ऐसा करने से दम्मा, अस्थमा और वात में काफी फायदा मिलता है।

5. सर्दी, खांसी और कफ आदि में – In Cold, Cough and Phlegm

सर्दी, खांसी, कफ आदि में; दालचीनी सर्दी, खांसी, काफ और गले की खराश आदि में फायदेमंद होती है। क्योकि दालचीनी में एंटी फंगल, एंटी बैक्टीरियल तत्व पाए जाते हैं। जो सर्दी, खांसी और गले की खराश आदि को दूर करने में काफी हद तक मदद करता है। इसके लिए दालचीनी के पाउडर में शहद को बराबर मात्रा में लेकर गर्म पानी के साथ सेवन करना चाहिए।

6.  सर के दर्द के लिए – For Headache

अगर सिर में बहुत ज्यादा दर्द हो रहा है तो आप देसी नुस्खा अपना सकते हैं। दालचीनी पाउडर को गर्म पानी में मिलाकर पेस्ट बना लें और उस पेस्ट को सिर पर लगाएं और 5 से 7 मिनट बाद अपना सिर धो लें। ऐसा करने से सिर दर्द में आराम मिलता है। आपको बता दे की दालचीनी दिमाग की शक्ति को बढ़ाने में मदद करती है।

7. अर्थ्रिटिक और ऑस्टियोपोरोसिस  के लिए – For Arthritic and Osteoporosis

गठिया, जोड़ों के दर्द, मांसपेशियों में दर्द, ऑस्टियोपोरोसिस आदि में दालचीनी बहुत ही फायदेमंद हो सकती है।

यह भी पढ़ें: पुरुषों और महिलाओं के लिए हल्दी दूध, पानी और पाउडर के स्वास्थ्य लाभ


8. कान के दर्द के लिए – For Earache

अगर कान में तेज दर्द हो या बहरापन हो तो आपको दालचीनी के तेल की कुछ बूंदे कान में डालने से बहुत लाभ होता है। आपको बता दे की दालचीनी सुनने की शक्ति को भी बढ़ाती है।

9. गैस और अपच से छुटकारा दिलाता हैं – Relieves gas and indigestion

गैस की समस्या हो तो दालचीनी का सेवन बहुत ही फायदेमंद होता है। बनाने की विधि इसके लिए 1 चम्मच दालचीनी पाउडर को 1 चम्मच शहद के साथ गर्म पानी में मिलाकर पीने से लाभ होता है। इससे पेट की समस्याओं में आराम मिलता है।

10. कैंसर के लिए उपयोगी – Useful for cancer

दालचीनी का ऑइल कैंसर के होने वाले प्रभाव को कम करता है, दालचीनी का उपयोग ट्यूमर, गैस्ट्रिक कैंसर की रोकथाम के लिए किया जाता है। दालचीनी के चूर्ण को शहद में मिलाकर खाने से भी कैंसर से होने वाले प्रभाव को कम किया जा सकता है। घटाया जा सकता है।

11. अल्जाइमर और पार्किंसंस रोग में – Alzheimer’s and Parkinson’s Disease

दालचीनी का उपयोग अल्जाइमर और पार्किंसंस  जैसी बीमारी में भी किया जाता है। दालचीनी के पाउडर का लेप बना कर लगाने से काफी हद तक फयदा होता हैं। 

दालचीनी के साइड इफेक्ट – Cinnamon Side Effects

दालचीनी का अधिक मात्रा में सेवन करने से लीवर पर बुरा असर पड़ता सकता है। दालचीनी खून को पतला करती है, इसलिए जो लोग खून को पतला करने की दवा लेते हैं, उन्हें डॉक्टर की परामर्श लेकर ही इसका सेवन करना चाहिए। और जिन्हें दालचीनी से एलर्जी है उन्हें डॉक्टर से सलाह लेने के बाद ही इसका इस्तेमाल करना चाहिए। दालचीनी का पाउडर बहुत ही फायदेमंद होता है। आप दालचीनी पाउडर को शहद या गुड़ के साथ ले सकते हैं।

Leave a Comment