Expert

देर रात तक नहीं आती नींद, तो इन 5 आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों का करें सेवन

मोबाइल में घंटों नेट सर्फिंग और काम की व्यस्तता के चलते आज अधिकतर लोगों को अनिद्रा की समस्या होने लगी है। आगे जानते हैं इसे दूर करने के आयुर्वेदिक 

Vikas Arya
Written by: Vikas AryaUpdated at: Jul 28, 2023 20:01 IST
देर रात तक नहीं आती नींद, तो इन 5 आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों का करें सेवन

Onlymyhealth Tamil

आज के समय में लोगों पर काम का बोझ बढ़ने लगा है। वहीं अधिकतर युवा मोबाइल चलाने में घंटों समय बिताकर देर रात तक जागते हैं। इसका सीधा असर लोगों की नींद पर पड़ता है। पर्याप्त समय की नींद न लेने से आपको कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। यदि, पर्याप्त नींद न ली जाए तो इससे दिमाग थकने लगता है और इसका असर आपके कार्य क्षमता पर पड़ता है। इससे भविष्य में कई तरह के रोग होने की संभावना बढ़ जाती है। हालांकि, आयुर्वेद के अनुसार आप कुछ जड़ी बूटियों के इस्तेमाल से बेहतर नींद ले सकते हैं। आयुर्वेदाचार्य धीरेंद्र बंसल से जानते हैं कि किन हर्ब्स के इस्तेमाल से आप नींद संबंधी समस्याओं को दूर कर सकते हैं। साथ ही, इनके उपयोग के बारे में भी आगे बताया गया है। 

अच्छी नींद के लिए आयुर्वेदिक हर्ब्स - Ayurvedic Herbs For Better Sleep In Hindi

ब्राह्मी 

ब्राह्मी का उपयोग ब्रेन फंक्शन को बेहतर करने के लिए सदियों से किया जा रहा है। यह बेहद ही उपयोगी जड़ी बूटी मानी जाती है। इसके नियमित उपयोग से आप स्ट्रेस को आसानी से दूर कर सकते हैं। इससे आपको बेहतर नींद आती है। 

ब्राह्मी का उपयोग कैसे करें:

ब्राह्मी को आप पानी में उबालकर चाय की तरह पी सकते हैं। इसके नियमित उपयोग से आपका ब्रेन फंक्शन बेहतर होता है। आप ब्राह्मी की पत्तियों का पेस्ट बनाकर भी सेवन कर सकते हैं।

brahmi for better sleep

जटामांसी 

जटामांसी को स्पाइकेनार्ड के नाम से भी जाना जाता है। इससे इस्तेमाल से आप नींद की क्वालिटी को बेहतर कर सकते हैं। यह नर्वस सिस्टम को आराम पहुंचाती है, जिससे अनिद्रा की समस्या दूर होती है। जिन लोगों का ब्रेन हाइपर एक्टिव रहता है, उन्हें जटामांसी का नियमित उपयोग करना चाहिए। 

जटामांसी का उपयोग कैसे करें:

आप बाजार से जटामांसी का पाउडर खरीद सकते हैं। इस पाउडर को आप गर्म पानी और दूध के साथ ले सकते हैं। बाजार में जटामांसी का तेल भी उपलब्ध है, इस तेल की सिर पर मालिश करने से नसों को आराम मिलता है और बेहतर नींद आती है। 

अश्वगंधा 

अश्वगंधा, एडाप्टोजेनिक जड़ी बूटी है। यह शरीर के तनाव को कम करने में मदद करती है। इसके इस्तेमाल से नर्वस सिस्टम बेहतर होता है। चिंता और स्ट्रेस के लेवल में सुधार होता है। अच्छी नींद के लिए आप अश्वगंधा का सेवन कर सकते हैं। 

अश्वगंधा का उपयोग कैसे करें 

अश्वगंधा के पाउडर का इस्तेमाल आप गर्म दूध और शहद के साथ इस्तेमाल कर सकते हैं। बाजार में इसके कैप्सूल उपलब्ध होते हैं। आप अश्वगंधा की कैप्सूल का सेवन भी कर सकते हैं। 

शंखपुष्पी

शंखपुष्पी नींद और मानसिक स्वास्थ्य के लिए बेहतर जड़ी बूटी मानी जाती है। इससे आपका नर्वस सिस्टम एक्टिव होता है। इससे आपको गहरी नींद आती है और आपकी चिंता कम होने लगती है। 

शंखपुष्पी का उपयोग कैसे करें:

बाजार में शंखपुष्पी का सिरप उपलब्ध है। आप डॉक्टर की सलाह पर इसको सुबह और शाम पानी के साथ ले सकते हैं। 

तुलसी 

आयुर्वेद में तुलसी के कई फायदो का जिक्र मिलता है। इससे इम्यून सिस्टम मजबूत होता है और आपको संक्रमण होने की संभावना कम होती है। आप शरीर के स्ट्रेस को दूर करने के लिए भी तुलसी का सेवन कर सकते हैं। 

तुलसी का उपयोग कैसे करें:

आप तुलसी की पत्तियों का सेवन चाय में मिलाकर भी कर सकते हैं। इसके अलावा आप तुलसी का काढ़ा बनाकर भी पी सकते हैं। रात को तुलसी के काढ़े में शहद मिलाकर पीने से आपको गहरी और अच्छी नींद आती है। 

इसे भी पढ़ें : कहीं बहुत ज्यादा सोने या कम सोने का कारण डिप्रेशन तो नहीं? इन संकेतों से समझें

अनिद्रा को दूर करने के लिए आप लाइफस्टाइल में एक्सरसाइज और योग को शामिल करें। योग और मेडिटेशन से दिमाग को आराम मिलता है और आपकी अनिद्रा की समस्या दूर होती है। 

 
Disclaimer